Natural Eat Mania

Health is Wealth

kesar ke Fayde aur Upyog ke Tarike

kesar ke Fayde aur Upyog ke Tarike

kesar ke Fayde aur Upyog ke Tarike

Kesar ke Fayde : केसर के फायदे (Kesar ke Fayde) बहुत सारे होते हैं। केसर के फायदे (Saffron Benefits) की बात करें, तो ये हमें रोजाना की बीमारियों के अलावा गंभीर बीमारियों से छुटकारा दिलाने में कारगर है। केसर के फायदे (Saffron Advantages) खूबसूरती और त्वचा की रंगत निखारने में भी बेहद उपयोगी हैं। इसलिए आज हम आपको दुनिया के सबसे मंहगे मसालों में से एक केसर के पौषक तत्व, केसर का सेवन करना, केसर के फायदे और केसर के नुकसान बता रहे हैं।

केसर क्या है? (What is Kesar or Saffron in Hindi?)

केसर का पौधा छोटे आकार का होता है। केसर का उपयोग विभिन्न औषधियों, और खाद्य पदार्थों में किया जाता है। केसर का पौधा (saffron plant) कई सालों तक जीवित रहता है। इसकी जड़ के नीचे प्याज के समान गांठदार शल्ककन्द होता है। इसके पत्ते घास के समान लम्बे, एवं पतले होते हैं। केसर के फूल (saffron flower) नीले, बैंगनी, लाल-नारंगी रंग के होते हैं। फूल के स्त्रीकेशर के सूखे हुए आगे वाले भाग (stigma) को केशर (saffron) कहते हैं। आयुर्वेद में केसर के तीन प्रकार बताए गए हैं। सभी के गुण भिन्न-भिन्न होते हैं जो ये हैंः-

1.काश्मीरज केसर

कश्मीरी केसर (kashmiri saffron) लाल रंग का होता है। यह केसर सूक्ष्म तन्तुओं से युक्त होता है। यह कमल जैसे गन्ध वाला होता है। केसर की तीनों श्रेणियों में यह उत्तम श्रेणी का माना जाता है।

2.बाल्हीकज केसर

यह बलख-बुखारा देश का केसर है। यह सूक्ष्म तन्तुयुक्त, और पाले रंग का होता है। इसका गन्ध मधु जैसा होता है। यह केसर कश्मीरी केसर के कम गुण वाला माना गया है।

3.पारसीकज-पारस केसर

यह ईरान देश का केसर है। यह स्थूल तन्तुयुक्त, हल्का पीले रंग का, और मधु जैसे गन्ध वाला होता है। इस केसर को भी कश्मीरी केसर से कम गुणी वाला बताया गया है।

अन्य भाषाओं में केसर के नाम (Name of Kesar in Different Languages)

केसर का वानस्पतिक नाम क्रोकस सैटाइवस (Crocus sativus Linn.), Syn-Crocus officinalis (Linn.)Honck है। दुनिया भर में केसर को अनेक नामों से भी जाना जाता है। इसके भिन्न-भिन्न नाम ये हैंः-

Kesar (saffron) in-

  • Hindi (saffron in hindi) – केशर, केसर, जफरान
  • Urdu- जापैंरान (Jafran)
  • English (kesar in english)- क्रोकस (Crocus), सैप्रैंन क्रोकस (Saffron crocus), सैपैंरन (Saffron)
  • Sanskrit- कुंकुम, केशर, घुसृण, रक्त, काश्मीरज, बाह्लीक
  • Kannada- कुंकुमकेसरी (Kunkumakesari)
  • Kashmir- कोंग (Kong)
  • Gujarati- केशर (Keshar)
  • Tamil (saffron meaning in tamil)- कुंगुमपु(Kungumapu)
  • Telugu- कुन्कुमापुवु (Kunkumapuvu)
  • Bengali- जापैंरान (Jafran)
  • Punjabi- केशल (Keshal)
  • Marathi- केसर (Kesar)
  • Malayalam- केसरम (Kesaram)
  • Nepali- केशर(Keshar)
  • Arabic- जापैंरान (Jafran), जहापैंरान (Zahafaran), कुर्कुम (Kurkum)
  • Persian- करकीमास (Karkimasa), लरकीमासा (Larkimasa), जापैंरान (Jafraan)

केसर के फायदे (Kesar Benefits and Uses in Hindi)

आपने कई बार यह देखा होगा कि जब कोई महिला गर्भवती होती है, तो उसे केसर वाला दूध पीने (saffron during pregnancy) को दिया जाता है। इसी तरह रोग जैसे कमजोरी, सर्दी-जुकाम होने पर, या अन्य बीमारियों में केसर के सेवन करने की सलाह दी जाती है। ऐसा इसलिए कहा जाता है, क्योंकि केसर स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। आइए जानते हैं कि केसर (Patanjali Kesar) का औषधीय प्रयोग कैसे किया जा सकता है, केसर के इस्तेमाल की मात्रा क्या होनी चाहिए, और इसकी विधियां क्या-क्या हैंः-

  • केसर के सेवन से वजन कम होता है। केसर का सेवन करने से आपके बार-बार भूख लगने की इच्छा पर कंट्रोल होता है। ऐसे में आपको बार-बार खाने की जरूरत नहीं पड़ती जिसके कारण आपका वजन नहीं बढ़ता है। यह तनाव से भी हमें दूर रखता है।
  • केसर त्वचा व बालों के लिए भी है बेहद फायदेमंद। केसर वाला फेस पैक लगाने से त्वचा ग्लो करने लगती है। केसर हमारी त्वचा को टैनिंग व मुंहासो से लड़ने में मदद करती है। इसके इस्तेमाल से त्वचा मुलायम और चमकदार होती है।
  • पीरियड्स से पहले होने वाले दर्द से भी केसर राहत दिलाता है। पीएमएस यानि प्री मेन्सट्रुअल सिंड्रोम के लक्षणों को भी कम करने में मदद करता है केसर। जैसे पेट दर्द, सिर दर्द, मूड स्विंग जैसी समस्याओं से राहत दिलाता है।
  • केसर खाने से शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। इसमें विटामिन सी भी पाया जाता है जिससे हमारा शरीर कई तरह की बीमारियों से लड़ने में मददगार होता है।
  • केसर का सेवन पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। इसमें औषधीय यौगिक और anti-convulsant गुण होते हैं। यह आपके लीवर को मजबूत और बेहतर काम करने में मदद करता है। केसर में अधिक मात्रा में आयरन भी पाए जाते हैं, जिसकी मदद से हीमोग्लोबिन बढ़ता है।
  • प्रेग्नेंट महिलाओं को डिलीवरी का टाइम आते-आते पेट में दर्द होने लगता है। गर्भ में पल रहे बच्चे में कई प्रकार के बदलाव होते हैं जिसके कारण शरीर में भी बदलाव होने लगते हैं इससे दर्द होता है। ऐसे में केसर का सेवन इस दर्द से राहत दिलाता है और आराम देता है।
  • आर्थराइटिस के इलाज में भी केसर फायदेमंद होता है।